Bihar Politics: बिहार में लाठीचार्ज से BJP नेता की मौत, सम्राट चौधरी समेत भाजपा के नेता गिरफ्तार

142
bjp

Patna Bihar Politics: CM नीतीश सरकार (Nitish government) के खिलाफ बीजेपी (BJP) ने पटना (Patna) के गांधी मैदान (Gandhi Maidan) से ‘विधानसभा मार्च (assembly march)’ निकाला था. मार्च के दौरान पुलिस (Police) ने बीजेपी (BJP) कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज किया और भीड़ को तितर-बितर करने के लिए वॉटर कैनन चलाए. इस लाठीचार्ज में एक बीजेपी बीजेपी (BJP) नेता मौत हो गई. जहानाबाद (Jehanabad) के बीजेपी (BJP) जिला महामंत्री (District General Secretary) विजय कुमार सिंह (Vijay Kumar Singh) पुलिस की लाठी से गंभीर रूप से घायल हो गए थे, जिसके बाद उन्हें अस्पताल (hospital) में भर्ती कराया गया, इलाज के दौरान ही उनकी मौत हो गई.

बिहार विधानसभा में टीचर बहाली (Teacher Recruitment) के मुद्दा उठाने के बाद बिहार विधानसभा से बीजेपी (BJP) के दो विधायकों को मार्शल आउट कर दिया गया, जिसके बाद बीजेपी (BJP) विधायकों ने विधानसभा के बाहर धरना प्रदर्शन किया. मार्शल आउट किए जाने के बाद बीजेपी (BJP) विधायक शैलेन्द्र कुमार ने बताया, ‘हम अपनी बात रख रहे थे. अध्यक्ष जी ने मर्यादा को तार-तार कर दिया. हम भी सत्ता पक्ष में थे लेकिन हमने कभी ऐसा नहीं किया. मेरे पैर पर लात रखा गया, मुझे चोट आई है.’

बीजेपी (BJP) विधायक प्रमोद कुमार ने कहा, ‘नीतीश की सरकार तानाशाह हो गई है और राज्य में लोकतंत्र खतरे में है. CM नीतीश कुमार निहत्थे लोगों पर, लाठी चलवा रहे हैं. हम अपने मार्ग पर अटल हैं और विधानसभा तक कूच करेंगे.’

विपक्ष के नेता विजय कुमार सिन्हा ने कहा, ‘यह अपराधियों और भ्रष्टाचारियों को संरक्षित करने वाले जनता की आवाज को दबा रहे हैं, टीचर बहाली (Teacher Recruitment) पर भी जवाब नहीं दिया जा रहा है. इनको संविधान में विश्वास नहीं है. विजय कुमार सिन्हा ने कहा यह अघोषित आपातकाल सदन से सडक तक लगा रहे हैं. हम इसके विरोध में यहीं धरने पर बैठ रहे हैं.’

बिहार बीजेपी (BJP) अध्यक्ष सम्राट चौधरी ने कहा-लोकतंत्र की हत्या हो रही है और CM नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने हमारे नेताओं और कार्यकर्ताओं की हत्या की है. नीतीश कुमार जी पर (IPC की धारा) 302 का मुकदमा चलाने का काम करेंगे. आप लाठी चलाएं या फिर गोली, बीजेपी (BJP) का कार्यकर्ता नहीं रुकेंगे.

कैसे शुरू हुआ घटनाक्रम?
बीजेपी (BJP) ने गुरुवार को शिक्षक, रोजगार समेत कई मुद्दों को लेकर विधानसभा मार्च का ऐलान किया था इसको लेकर सुबह से ही प्रशासन भी पटना के मुख्य चौक चौराहों पर पूरी तरीके से अलर्ट मोड पर थी. बीजेपी (BJP) नेताओं और कार्यकर्ताओं ने गांधी मैदान से विधानसभा के लिए पैदल मार्च लगभग 12:30 में गांधी मैदान से निकला लेकिन डाक बंगला चौराहा आते आते तमाम नेताओं और कार्यकर्ताओं को प्रशासन ने रोक दिया.

बीजेपी (BJP) नेताओं को रोकने के लिए बिहार पुलिस के साथ-साथ सैप के जवानों की तैनाती की गई थी. इसके साथ मजिस्ट्रेट, सिटी एसपी और डीएसपी भी मौके पर मौजूद थे. पटना के डाकबंगला चौराहे पर बीजेपी (BJP) कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच हल्की-फुलकी नोकझोंक भी हुई और देखते ही देखते लाठीचार्ज हो गया.

इस नोकझोंक में बीजेपी (BJP) के कई नेताओं को चोटें भी आईं. बीजेपी (BJP) सांसद जनार्दन सिंह सिग्रीवाल डाकबंगला चौराहे से आगे बढ़ने की कोशिश किया तो उन पर भी प्रशासन ने लाठियां चलाई. इस दौरान पुलिस ने आरोप लगाया कि असामाजिक तत्वों के द्वारा पुलिस पर मिर्ची पाउडर फेका गया और पथराव किया गया.

बीजेपी (BJP) के कई नेताओं और कार्यकर्ताओं को डाक बंगला चौराहा से पहलेही पुलिस ने एक अपार्टमेंट में बंद करके उनको अंदर ही कैद कर दिया. प्रशासन ने बीजेपी (BJP) नेताओं को आगे जाने से रोकने के लिए डाक बंगला चौराहे पर कई बार वाटर कैनन की गाड़ियों का भी उपयोग किया और पानी की बौछार की गई. फिलहाल कुछ नेताओं को हिरासत में लेकर कोतवाली थाने में ले गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here