Home entertainment Mirzapur Season 3 Review: मुन्ना और कालीन भैया के न होने से...

Mirzapur Season 3 Review: मुन्ना और कालीन भैया के न होने से फीकी पड़ी Mirzapur की चमक, गुड्डू पंडित की दीवानगी पर आधारित है Web Series

601
Mirzapur Season 3

Mirzapur Season 3 Review: भारत की सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली वेब सीरीज Mirzapur का तीसरा सीजन रिलीज हो चुका है। इस सीरीज के पिछले दो सीजन काफी पसंद किए गए थे। Mirzapur 2 का अंत शानदार और कई सवालों के साथ हुआ। Mirzapur 3 इन सवालों के जवाब लेकर आया है। इस बार Mirzapur 3 की कहानी बदले से ज्यादा Mirzapur की गद्दी के इर्द-गिर्द घूमती है। सीजन 3 में गुड्डू पंडित (अली फजल) Mirzapur की गद्दी पर बैठ चुके हैं लेकिन पूर्वांचल के तमाम बाहुबली उन्हें इस लायक नहीं समझते। Mirzapur 3 की कहानी इसी गद्दी के इर्द-गिर्द गढ़ी गई है।

मिर्जापुर 3 की कहानी
मिर्जापुर 3 की कहानी सीजन 2 के बाद शुरू होती है। जिसमें मुन्ना भैया (दिव्येंदु शर्मा) की मौत हो चुकी है लेकिन उनकी मुख्यमंत्री पत्नी माधुरी (ईशा तलवार) अपने पति की मौत का बदला लेने के लिए अपने राजनीतिक हथकंडे अपना रही हैं। वहीं शरद (अंजुम शर्मा) अपने पिता के सपने को पूरा करने के लिए मिर्जापुर की गद्दी हथियाने के लिए राजनीति और बाहुबल का संयोजन करने में जुटे हैं। मिर्जापुर 3 की कहानी गोलू गुप्ता (श्वेता त्रिपाठी) से शुरू होती है जो घायल कालीन भैया (पंकज त्रिपाठी) की तलाश में है। वहीं गुड्डू पंडित अपने पागलपन और डर के दम पर मिर्जापुर की गद्दी पर विराजमान है।

मिर्जापुर 3 की पात्र
पहले और दूसरे सीजन की तरह मिर्जापुर 3 में भी किरदारों की भारी भीड़ है। ऐसे में मेकर्स किसी भी किरदार को पूरी तरह से दिखाने में कंजूसी बरत रहे हैं। गुड्डू भैया के किरदार को अली फजल संभालते नजर आए लेकिन मिर्जापुर की गद्दी पर बैठने के बाद उनका किरदार कई बार बचकाना लगता है। मुन्ना भैया और कालीन भैया की कमी हर एपिसोड में खलेगी। पंकज त्रिपाठी को इतना छोटा रोल दिया गया है कि लगता है कि मिर्जापुर 3 में उनकी भी मौत हो गई है। बड़े त्यागी के किरदार में विजय राज ठीक लगे हैं। वहीं रसिका दुग्गल, श्वेता त्रिपाठी और दूसरे कलाकारों ने अच्छा काम किया है।

मिर्जापुर 3 की कमियां
यह सीरीज हिंसा और बाहुबल की कहानी पर चलती रही है। एनिमल जैसी फिल्मों के दौर में मिर्जापुर 3 में पिछले दो सीजन के मुकाबले हिंसा काफी कम है। इस सीरीज में मुन्ना भैया की मौत होने पर मिर्जापुर 3 की चमक फीकी पड़ गई। वहीं सीजन तीन में मेकर्स ने कालीन भैया के किरदार को लगभग मरा हुआ ही पेश किया है। मिर्जापुर 3 में वे नजर तो आते हैं लेकिन न के बराबर। यह वेब सीरीज (Web Series) सिर्फ साइड एक्टर्स और गुड्डू भैया के पागलपन पर आधारित है। एक समय के बाद मिर्जापुर 3 की कहानी इतनी बोरिंग लगने लगती है कि इसे आगे फॉरवर्ड करके देखने का मन करता है।

मिर्जापुर 3 की फैसला
मिर्जापुर 3 अपने दो सीजन के मुकाबले काफी कमजोर है। ऐसा लगता है कि मेकर्स ने इस सीरीज को अगले सीजन के लिए ही बनाया है। क्योंकि पूरी सीरीज में सभी किरदारों को छोटे-छोटे रोल देकर पेश किया गया है। जिसकी वजह से मिर्जापुर 3 की कहानी कई बार भटकती नजर आती है।

वेब सीरीज: मिर्जापुर 3
रेटिंग: 2/5 स्टार
निर्देशक: गुरमीत सिंह और आनंद अय्यर
कास्ट: पंकज त्रिपाठी, अली फजल, रसिका दुगल, श्वेता त्रिपाठी, शर्मा, राजेश तैलंग, विजय वर्मा, अंजुम शर्मा, ईशा तलवार, मनु ऋषि चड्ढा, शीबा चड्ढा, अनिल जॉर्ज, प्रियांशु पेनयुली, अनंगशा बिस्वास, मेघना मलिक, लिलिपुट, अलका अमीन

ये भी पढ़ें-:

UK PM Rishi Sunak: “I am sorry”: ब्रिटेन के प्रधानमंत्री ऋषि सुनक ने चुनाव में हार स्वीकार की, कीर स्टारमर पदभार संभालेंगे

CTET Admit Card 2024 Date: CTET Admit Card यहाँ से करे डाउनलोड, Direct Link

T20 World Cup Trophy: PM Modi ने Rohit Sharma से पूछा- मिट्टी का स्वाद कैसा था? सभी खिलाड़ी से इस खास पल के बारे में जाना

Rajasthan PTET Result : राजस्थान PTET का रिजल्ट जारी, इस पर ptetvmou2024.com चेक करें, Direct Link

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Sonakshi Sinha Married: सोनाक्षी सिन्हा हुए जहीर इकबाल के Rahat Indori: राहत इंदौरी का शानदार 10 शायरी, एक बार जरूर पढ़िए निर्जला एकादशी का व्रत सभी एकादशियों में सबसे महत्‍वपूर्ण और सबसे कठिन व्रत है मलाइका अरोड़ा व्हाइट कट-आउट ड्रेस में दिए सेक्सी पोज तस्वीरें Viral दिशा पाटनी ने साडी में लगाया हॉटनेस का तड़का, देखें फोटोज