CM Nitish Kumar का बड़ा बयान: मर जाना कबूल है, BJP के साथ जाना क़ुबूल नहीं है

100
cm-nitish-kumar

Patna:बिहार (Bihar) बीजेपी (BJP) के दो दिवसीय प्रदेश कार्यसमिति (two day state working committee) की बैठक में एक ऐसा प्रस्ताव पारित हुआ है जिसने बिहार की राजनीति (Politics of Bihar) में भूचाल पैदा कर दी है. बीजेपी (BJP) ने साफ कहा है कि अब कभी भी CM नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के साथ गठबंधन (alliance) नहीं करेंगे. बीजेपी (BJP) ने सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) के लिए नो एंट्री का बोर्ड (no entry board) लगा दिया है, बीजेपी (BJP) के इस फैसले को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) ने भी बीजेपी (BJP) पर पलटवार किया है और एक बार फिर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कह दिया है कि ‘मर जाना क़ुबूल है, बीजेपी (BJP) के साथ जाना क़ुबूल नहीं है।


आजादी की लड़ाई को भूलाने का किया जा रहा प्रयास मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) ने महात्मा गांधी की पुण्यतिथि (Death anniversary of Mahatma Gandhi) पर पटना के एनआईटी घाट (NIT Ghat of Patna) पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की . इस अवसर पर उन्होंने कहा कि बापू की पुण्यतिथि (death anniversary) पर पूरा देश उनको नमन कर रहा है. और केंद्र सरकार (central government) पर कटाक्ष करते हुए नीतीश कुमार कहा कि आजादी की लड़ाई को भूलाने का प्रयास किया जा रहा है. बीजेपी का नीतीश कुमार से कभी भी गठबंधन नहीं करने वाले बयान पर नीतीश कुमार ने कहा कि हम लोग अटल जी को मानने वाले लोग हैं. बीच में हम लोग छोड़ कर चले गए थे, लेकिन इन्हीं लोगों के आग्रह पर फिर से उनके साथ गए थे, लेकिन 2020 में जिस तरीके से उनकी पार्टी के साथ व्यवहार किया गया उससे मन व्यथित था. हम नहीं चाहते थे कि मुख्यमंत्री का पद ले लेकिन बीजेपी के परिसर में मुख्यमंत्री का पद ग्रहण किया. हमारी पार्टी ने 2020 में बीजेपी को समर्थन दिया, लेकिन बीजेपी ने धोखा दिया.

BJP की सरकार देश में हर चीज बदलने का कर रही है प्रयास

नीतीश कुमार कहा कि आरजेडी और जदयू ने साथ में चुनाव लड़ा था जिसके परिणाम से ये साफ़ हो गया है कि बीजेपी को कितनी सीट मिली थी. हमारे वोट से उनकी जीत हुई और मेरे ही खिलाफ बीजेपी वाले बोल रहे हैं. बीजेपी की सरकार देश में हर चीज को बदलने का प्रयास कर रही है. आजादी की लड़ाई में बीजेपी वाले का क्या योगदान है. आजादी की लड़ाई को नई पीढ़ी तक ले जाने का हम लोग प्रयास कर रहे हैं.

वहीं, सीएम नीतीश कुमार ने बड़ा बयान देते हुए कहा कि उन्हें मर जाना पसंद है लेकिन अब बीजेपी के साथ जाना कबूल नहीं है. अब उन लोगों के साथ कोई संबंध नहीं है तो फिर परेशान करने की साजिश हो रही है. हम विपक्षी दलों की एकता चाहते हैं हमको कोई पद पसंद नहीं है. बिहार में 17 वर्षो से काम कर रहे हैं केंद्र में भी गए तो केंद्र में भी काम किया. बिहार में 2024 के चुनाव में 36 सीट जीतने के बीजेपी के दावे पर सीएम ने कहा कि 2024 के चुनाव में बिहार में उनका क्या परिणाम होगा ये तो हर कोई देख ही लेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here