Lalu Prasad Yadav ने नेताओं को दी राजनीतिक भोज, RJD सुप्रीमो ने मंत्रियों-विधायकों से जाना जनता का मूड

176
Lalu-Prasad-Yadav

Patna: आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (RJD supremo Lalu Prasad Yadav) पटना (Patna) आने के बाद राजनीतिक (political) रूप से सक्रिय हो गए हैं। उन्होंने बुधवार को पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी (Former Chief Minister Rabri Devi) आवास पर पार्टी के मंत्रियों (ministers), MLA, MLC, एवं प्रवक्ताओं (spokespersons) और अन्य सीनियर नेताओं (senior leaders) के लिए सामूहिक भोज का आयोजन किया गया। कयास ये लगाया जा रहा है कि भोज के बहाने लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) ने मंत्रियों (ministers) और विधायकों (MLA) से आगामी चुनावों को लेकर राज्य की जनता का मूड भांपने की कोशिश की। लालू यादव किडनी ट्रांसप्लांटेशन (Lalu Yadav Kidney Transplantation) के बाद हाल ही में पटना लौटें हैं।

बिहार के पूर्व CM राबड़ी देवी (Former Bihar CM Rabri Devi) और मंत्री तेजप्रताप यादव (Minister Tej Pratap Yadav) ने इस कार्यक्रम की मेजबानी की। उन्होंने एक-एक पार्टी नेताओं के पास जाकर बढ़िया से भोजन करने का आग्रह किया। पार्टी नेताओं के लिए मांसाहारी (Non-vegetarian) व शाकाहारी (Vegetarian) दोनों प्रकार के भोजन की व्यवस्था थी। नाश्ते में सत्तू-अचार भी था। सामूहिक भोज में शामिल होने वाले नेताओं में वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री (senior leader former minister) और राष्ट्रीय महासचिव अब्दुल बारी सिद्दीकी (National General Secretary Abdul Bari Siddiqui), एमएलसी सुनील कुमार सिंह (MLC Sunil Kumar Singh), मंत्री समीर कुमार महासेठ (Minister Sameer Kumar Mahaseth), आलोक मेहता, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवानंद तिवारी, पूर्व मंत्री श्याम रजक, विधायक भाई वीरेन्द्र, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष उदय नारायण चौधरी, पूर्व मंत्री वृष्णि पटेल, पूर्व विधान पार्षद तनवीर हसन, पार्टी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी सहित अन्य वर्तमान एवं पूर्व विधायक, वर्तमान एवं पूर्व मंत्री प्रमुख थे।

RJD के पार्टी के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी (Shivanand Tiwari) ने इस बैठक को सिर्फ एक सामान्य मुलाकात बताया। उन्होंने कहा कि बैठक में किसी तरह की राजनीति बात नहीं हुई।

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (RJD supremo Lalu Prasad Yadav) किडनी ट्रांसप्लांट (kidney transplant) के बाद 28 अप्रैल को पटना आए। किडनी ट्रांसप्लांट (kidney transplant) के बाद पटना में नेताओं के साथ उनकी यह पहली बैठक थी। इससे पहले 25 फरवरी (February 25) को पूर्णिया (Purnia) में महागठबंधन (grand alliance) की रैली (rally) में उन्होंने वर्चुअली जनसभा को संबोधित (Virtually addressed public meeting) किया था।

इस रैली में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar in rally) भी शामिल हुए थे। पूर्णिया रैली (Purnia Rally) से पहले पिछले साल 21 सितंबर को राज्य परिषद की बैठक में लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) आरजेडी दफ्तर (RJD office) में कार्यकर्ताओं से सार्वजनिक रूप से मिले थे।

2024 और 2025 की चुनावी रणनीति पर बात हुई (Election strategy for 2024 and 2025 was discussed)
आप को बता दे की लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) ने इस राजनीतिक भोज (political party) के दौरान 2024 के लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) और 2025 में बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Election) की तैयारियों से जोड़कर देखा जा रहा है। शिवानंद तिवारी (Shivanand Tiwari) ने कहा कि मीटिंग का कोई राजनीतिक रणनीति (political strategy) नहीं था। लालू जी भोज पर मिलने के लिए बुलाए थे। उन्होंने बताया कि भोज में नॉनवेज (non veg) बना था, जो काफी अच्छा था। इससे पहले सुबह सत्तु, अचार और चटनी के साथ लालू जी से बातचीत हुई। तिवारी ने कहा कि धीरेंद्र शास्त्री (Dhirendra Shastri) या किसी भी अन्य राजनीतिक मुद्दे (political issues) पर लालू जी से कोई बात नहीं हुई है। बता दें कि cm नीतीश कुमार (cm nitish kumar) सहित तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) भाजपा (BJP) विरोधी पार्टियों को एकजुट करने में जुटे हैं। देश के कई बड़े नेताओं से अलग-अलग राज्यों में मुलाकात का दौर भी चल चुका है। इसको लेकर एक बड़ी बैठक भी पटना में संभावित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here