Bihar Politics: कांग्रेस ने CM नीतीश कुमार को दिया जोर का झटका, महागठबंधन की बैठक अब 23 जून

176
nitish-kumar-rahul-gandhi

पटना: Bihar Politics: कांग्रेस (Congress) ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) को दिया जोर का झटका। CM नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने फिलहाल चुप है। नीतीश कुमार के चुप होते ही एक्शन में दिखे बिहार के डेप्युटी सीएम तेजस्वी यादव (Deputy CM Tejashwi Yadav)। तेजस्वी यादव और ललन सिंह (Tejashwi Yadav and Lalan Singh) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस (press conference) में महागठबंधन बैठक (grand alliance meeting) टलने की जानकारी दी तो लालकृष्ण आडवाणी (Lal Krishna Advani) का रथ रोकने जैसा हस्र BJP का करने का प्रण भी दोहराया।

बैठक को लेकर BJP के पेट में उठने वाले मरोड़ की भी बात कही। ऐसा क्या हो गया कि विपक्षी एकता के लिए उत्साह नीतीश कुमार ने अचानक चुप हो गए। महागठबंधन बैठक (grand alliance meeting) टलने की जानकारी भी उन्होंने आधिकारिक रूप से तब दी, जब पूरी दुनिया को इसकी खबर हो चुकी थी। बैठक की नई तारीख बताने के लिए उन्होंने तेजस्वी यादव और जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह को आगे क्यों किया ?

लालू यादव की पहल पर राजी हुई कांग्रेस
आरजेडी के सूत्र बताते हैं कि नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) को जब यह पता लगा कि 12 जून की बैठक में राहुल गांधी और मल्लिकार्जुन खरगे (Rahul Gandhi and Mallikarjun Kharge) नहीं आएंगे तो उन्हें जोर का झटका लगा। उनको तब भी ऐसा ही झटका लगा था, जब महागठबंधन का नेता बन कर बिहार की सत्ता संभालते ही वे लालू यादव (Lalu Yadav) के साथ पिछले साल सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मिलने दिल्ली (Delhi) गए थे। सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात की कोई तस्वीर जारी हुई और बातचीत का ब्यौरा ही नीतीश, लालू या सोनिया गांधी की ओर से दिया गया। उसके बाद से नीतीश ने करीब 7-8 महीने तक चुप्पी साध ली थी।

कांग्रेस (Congress) ने 12 जून की बैठक में राहुल गांधी या मल्लिकार्जुन खरगे (Rahul Gandhi and Mallikarjun Kharge) के शामिल होने से इनकार कर दिया तो विपक्षी एकता के प्रयास में जुटे नीतीश के लिए यह अब तक का सबसे बड़ा झटका था। उसके बाद से ही उन्होंने चुप हो गए। नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की फजीहत देख लालू यादव (Lalu Yadav) ने सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से फोन पर बात की। तब जाकर 23 जून की तारीख तय की गई, जिसमें राहुल गांधी और मल्लिकार्जुन खरगे (Rahul Gandhi and Mallikarjun Kharge) के भाग लेने का कांग्रेस ने आश्वासन दिया है। यही वजह है कि तेजस्वी यादव ही अब नीतीश कुमार से अधिक विपक्षी एकता की बात करने लगे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here