Kuno National Park: दक्षिण अफ्रीका से लाई गई चीता ‘दक्षा’ की मौत, 3 महीने में तीसरी घटना

111
Leopard Kuno National Park

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में दक्षिण अफ्रीका (South Africa) से लाए गए एक और दक्षा चीते (cheetah) की मौत हो गई है. इस चीता को दक्षिण अफ्रीका (South Africa) से लाया गया था। हालांकि उसकी मौत का कारण बीमारी नहीं दूसरे अन्य चीतों से लड़ाई है. दक्षिण अफ्रीका (South Africa) से आए चीता दक्षा का कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) के अंदर अन्य चीतों से लड़ाई हो गई थी. मिली जानकारी के अनुसार नर चीता फिंडा, वायु और अग्नि से मादा चीता दक्षा और धीरा की लड़ाई हुई थी. इसी में दक्षा की मौत हो गई.

कैसे हुए दक्षा की मौत
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) के बड़े बाड़ों में 11 दक्षिण अफ्रीका (South Africa) और 4 नामीबियाई (Namibian) चीतों को रखा गया हैं जिन्हें जल्द ही खुले जंगल में छोड़ने को लेकर रणनीति बनाई जा रही थी. खुले जंगल में जाने से पूर्व ही कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) प्रबंधन नर और मादा चीतो की मीटिंग (Meeting) कराने की कोशिश में लगा हुआ था. इसी काम के लिए मंगलवार को बड़े बाड़े में दक्षिण अफ्रीका (South Africa) 2 चीतों को मादा चीता (Leopard) के पास छोड़ा गया था.

कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) अधिकारी उनकी मीटिंग का इंतजार कर रहे थे इसी बीच मेटिंग की जद्दोजहद करते हुए दोनों नर चीता मादा चीता दक्षा पर हावी हो गए. इसी दौरान उनके बीच लड़ाई हो गई. नर चीतों को अलग किया और मादा चीता की वेटनरी चिकित्सकों ने जांच की तो दक्षा की दुखद मृत्यु हो गई।.

इससे पहले हुई थी उदय की मौत
कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में इससे पहले उदय नाम के चीते की दुखद मृत्यु (Death) हो गई थी. उसे दक्षिण अफ्रीका से लाया गया था. सबसे पहले मादा चीता शासा की दुखद मृत्यु हो गई थी. शासा की मृत्यु स्वास्थ्य में गड़बड़ी के कारण हुई थी. बता दें कि नामीबिया और दक्षिण अफ्रीका (Namibia and South Africa) से मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park of Madhya Pradesh) में 20 चीते लाए गए थे जिसमें 3 की दुखद मृत्यु (death) हो गई अब 17 बचे हैं. अप्रैल महीने में क्वारंटाइन पूरा होने के बाद दक्षिण अफ्रीका चीतों को बडे़ बाडे़ से खुले जंगल में छोड़ा गया था .

साउथ अफ्रीका (South Africa) से 18 फरवरी को कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) से लाए गए 12 चीतों में से 3 नर चीतों को 17 अप्रैल को क्वारंटीन (Quarantine) बाडे़ से बाडे़ में छोड़ दिया गया था. 18 से 19 अप्रैल को 9 चीतों को भी कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) के बड़े बाडे़ में छोड़ा गया था.

कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) के बड़े बाडे़ में छोड़े गए चीते अपना शिकार कर रहे थे. जंगल (Forest) में बहुत सारे जंगली जानवर हैं. नामीबियाई (Namibian) चीतों को सही तरीके से कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में रखा गया है. अभी 4 चीतों को खुले जंगल में छोड़ा गया है.

बाकी नामीबियाई चीते बडे़ बाडे़ में मौजूद हैं. डीएएचडी (डिपार्टमेंट ऑफ एनिमल हस्बेंड्री एंड डेयरी) की अनुमति मिलने के बाद वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर बीते 2 दिनों में साउथ अफ्रीका से लाए गए सभी 12 चीतों को बड़े बाड़े में रखा गया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here