Adipurush Controversy: प्रभास और कृति सेनन की फिल्म ‘आदिपुरुष’ के खिलाफ दाखिल की याचिका, हिंदू सेना ने लगाए गंभीर आरोप

279
Adipurush

Patna: Entertainment: प्रभास और कृति सेनन (Prabhas and Kriti Sanon) की फिल्म ‘आदिपुरुष’ (Adipurush) रिलीज (release) क्या हुई सोशल मीडिया (social media) पर हलचल ही मच गया. चारों तरफ बस इस फिल्म के ही चर्चे हो रहे हैं. प्रभास और कृति सेनन (Prabhas and Kriti Sanon) स्टारर फिल्म ‘आदिपुरुष’ 16 जून (16 June) को रिलीज हो चुकी है। इस फिल्म में पूरी रामायण (Ramayana) को 3 घंटे में दिखाने का कोशिश किया गया है। इतना ही नहीं, थिएटर्स में एक सीट भगवान हनुमान (lord hanuman) जी के लिए भी छोड़ी गई है। चारों तरफ से इस फिल्म को रिएक्शन्स मिल रहे हैं। जहां पहले नेपाल में इस फिल्म के एक डायलॉग (सीता भारत की बेटी है) पर आपत्ति जताई गई थी। वहीं, अब हिंदू सेना ने दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) में जनहित याचिका दायर कर दी है। और मांग की है कि इसे कोई सर्टिफिटेक न दिया जाए।

हिंदू सेना (Hundu sena) के राष्ट्रीय अध्यक्ष विष्णु गुप्ता (National President Vishnu Gupta) ने शुक्रवार को जनहित याचिका दाखिल की है। इसमें उन्होंने रामायण (Ramayana), भगवान राम (lord ram) और देश की संस्कृति का मजाक बनाने का आरोप लगाया है। इसके अलावा उन्होंने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) से ‘आदिपुरुष’ में रावण, राम, माता सीता और हनुमान के कई अपमानजनक सीन्स भी हटाने के लिए आदेश देने की मांग की है। हिंदू सेना (Hundu sena) अध्यक्ष का आरोप है कि फिल्म में पूरी रामायण (Ramayana) और भगवान राम (lord ram) माता सीता को दिखाया गया है,

‘आदिपुरुष’ की भाषा पर सवाल (Question on the language of ‘Adipurush’)
याचिका में लिखा है कि इस फिल्म ने गलत तरीके से पात्रों को दिखाकर हिंदू धर्मों की भावना को आहत किया है। इस मामले में केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्रालय से भी मिले थे लेकिन उनकी तरफ से आज तक कोई जवाब नहीं आया है। महार्षि वालमिकी और संत तुलसीदास की लिखी गई रामायण में जिस तरह से सभी पात्रों को दर्शाया गया है। उस हिसाब से फिल्म के सभी कैरेक्टर्स मेल नहीं खाते हैं। इतना ही नहीं, इसमें जिस तरह की भाषा बोली गई है, वो भी त्रेता युग में कभी इस्तेमाल नहीं की गई है।

‘आदिपुरुष’ को बैन करने की मांग-हिंदू सेना (Demand to ban ‘Adipurush’ – Hindu Sena)
इस फिल्म में हिंदुओं का भगवान पुरुषोत्तम श्री राम, माता सीता, और भगवान हनुमान की छवि के बारे मेंगलत दिखाया गया है और फिल्म निर्माताओं, निर्देशकों और अभिनेताओं द्वारा उनकी दिव्य छवि में कोई भी बदलाव/छेड़छाड़ उनके मौलिक अधिकारों का उल्लंघन होगा। इसलिए करीब 600-700 करोड़ के बजट में बनी इस फिल्म को बैन करने की मांग की जा रही है। इसे सिनेमाघरों में न दिखाने और इसे सर्टिफिटेक न देखने की भी अपील, हिंदू सेना की तरफ से की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here