Home national सरकार की उदासीनता के कारण Jhanjharpur नहीं बन रहा है जिला :...

सरकार की उदासीनता के कारण Jhanjharpur नहीं बन रहा है जिला : डॉ विभय कुमार झा

137
Dr-Vibhay-Kumar-Jha

बिहार सरकार (Government of Bihar) की उदासीनता का दशकों से झंझारपुर (Jhanjharpur) गवाह रहा है। सड़क जाम, बजबजाती नालियां, पानी निकासी की समस्या, झंझारपुर के व्यापारियों और आम जनता की सुविधा का ख्याल नहीं रखा जा रहा है। लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) (Lok Janshakti Party (Ram Vilas)) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष (युवा प्रकोष्ठ) डॉ विभय कुमार झा (National Vice President (Youth Cell) Dr. Vibhay Kumar Jha) का कहना है कि हाल के वर्षों में झंझारपुर संसदीय क्षेत्र की कई यात्राएं की। इस संसदीय क्षेत्र के हर विधानसभा में लोगों की इच्छा है कि झंझारपुर को जिला बना दिया जाए। कई मंचों से समय-समय पर इसकी मांग उठाई गई है, लेकिन बिहार सरकार और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Chief Minister Nitish Kumar) के उदासीनता के कारण यह संभव नहीं हो पाया है।

युवा लोजपा (Yuva LJP) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ विभय कुमार झा (National Vice President Dr. Vibhay Kumar Jha) ने कहा कि डीएम शिर्षत कपिल अशोक के कार्यकाल में ही झंझारपुर नगर पंचायत क्षेत्र प्रशासन को नगर परिषद बनाने के प्रस्ताव के तहत आवश्यक अर्हताओं से लैस कर विभाग को प्रस्ताव भेजने का आदेश दिया गया था। इस आदेश के बाद झंझारपुर एवं लखनौर प्रखंड के बीडीओ को नपं क्षेत्र से सटे अपने प्रखंड क्षेत्र के पंचायतों की जनसंख्या आदि की सूचना मांगी गई थी। जिसके आलोक में झंझारपुर प्रखंड द्वारा सिमरा एवं सुखेत पंचायत को नगर परिषद में जोड़ने की जानकारी उपलब्ध करा दिया गया था। वहीं, लखनौर प्रखंड की रिपोर्ट में प्रखंड क्षेत्र के बेहट उत्तरी एवं दक्षिणी सहित कैथिनियां पंचायत को नगर परिषद में जोड़ने की जानकारी दी गई थी। इधर, नपं कार्यालय द्वारा बैठक कर डीएम के तीन अक्टूबर 2019 के पत्र द्वारा दोनों प्रखंडों से प्राप्त रिपोर्ट की जानकारी दी गई थी।

डॉ विभय कुमार झा ने कहा कि बिहार सरकार के प्रधान सचिव को भेजे गए तीन अगस्त 2019 के पत्र में बताया गया था कि झंझारपुर प्रखंड कार्यालय से प्राप्त सूची में सिमरा एवं सुखेत पंचायत को जोड़ने की बात सामने आई थी। लेकिन, यह दोनों ही पंचायत कृषि प्रधान पंचायत माना जाता है। जबकि, लखनौर प्रखंड से आई पंचायतों की सूची में बेहट दक्षिणी एवं उत्तरी के साथ ही कैथिनियां पंचायतों को अधिकांश क्षेत्र गैर कृषि आधारित बताया गया है। इन पंचायतों को नपं के विस्तार में जोड़ा जा सकता है। युवा लोजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ विभय कुमार झा ने बिहार सरकार से मांग की है कि जनता के दशकों पुरानी मांग को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार गंभीरता से लें।

एक सवाल के जवाब में युवा लोजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ झा
ने कहा कि बिहार सरकार ने जनता की मांगों को प्राथमिकता के आधार नहीं लिया तो इस पूरे संसदीय क्षेत्र में लोजपा जनसंपर्क अभियान चलाएगी। जनता की रायशुमारी के बाद आंदोलन किया जाएगा। डॉ विभय कुमार झा ने बताया कि स्वयंसेवी संस्था अभ्युदय के साथियों के साथ हमने पूरे संसदीय क्षेत्र का दौरा किया हुआ है। कोरोना महामारी के दौर में इस क्षेत्र में कई अभियान चलाया। हमारे युवा साथी आज भी यहां लगातार लोगों के संपर्क में हैं और युवाओं के हित के लिए काम किया जा रहा है।

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here