बिहार की बेटी Kriti Raj Singh ने किया बिहार का नाम रौशन, सब जुनियर कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप में जीते 6 गोल्ड मेडल

0
133
Kriti-Raj-Singh

Kriti Raj Singh: न्यूजीलैंड के ऑकलैंड शहर (zealand auckland) में आयोजित सब जूनियर पावरलिफ्टिंग कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप (Sub-Junior Powerlifting Commonwealth Championships) में कृति राज सिंह (Kriti Raj Singh) ने 1-2 नहीं पुरे 6 गोल्ड मेडल जीतकर एक नया कृतिमान स्थापित किया है। बिहार की राजधानी पटना के खुसरूपुर के बड़ा हसनपुर (Patna the capital of Bihar Bada Hasanpur of Khusrupur) की हैं। उनके इस जीत पर राज्यपाल फागू चौहान (Governor Fagu Chauhan) और CM नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने खुशी जाहिर की है। सीएम ने ट्वीट (CM tweeted) कर कहा “सब जूनियर कॉमनवेल्थ चैंपियनशिप की वेट लिफ्टिंग स्पर्द्धा में 6 स्वर्ण पदक जीतने वाली बिहार की खिलाड़ी सुश्री कृति राज सिंह जी को बधाई एवं शुभकामनाएं। उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना है। वे निरंतर प्रगति के शीर्ष पर पहुंचे और राज्य एवं देश का नाम रौशन करती रहें।”

Kriti Raj Singh के पिता ने फीस भरने के लिए गिरवी रखी जमीन
न्यूजीलैंड के ऑकलैंड शहर में 27 नवंबर से 4 दिसंबर तक सब जूनियर पावरलिफ्टिंग कॉमनवेल्थ चैंपिनयशिप का आयोजन किया गया है। इसमें बिहार की पावरलिफ्टिंग खिलाड़ी कृति राज सिंह ने 57 किलोग्राम सबजूनियर वर्ग में 6 गोल्ड मेडल जीतकर देश और प्रदेश का नाम पूरे विश्व में रौशन किया है। कृति राज बताती हैं कि उन्होंने ये 6 गोल्ड मेडल 29 और 30 नवंबर को जीते थे। कृति ने बताया कि इस गेम की इंट्री फीस इतनी ज्यादा थी कि उसके लिए उनके पिता ललन सिंह को अपनी जमीन तक को गिरवी रखनी पड़ गई थी। उन्होंने बताया कि पिता के अलावा उनके कोच कर्ण (coach karn) ने काफी मदद की। कृति राज ने बताया “मेरे कोच कर्ण सर ने किट दिलाने के लिए अपने जिम का क्रॉस ट्रेनर मशीन (cross trainer machine) को बेच दिया था।”

कृति राज सिंह अपनी शुरुआती दिनों को याद कर बताती हैं कि उन्हें शुरू-शुरू में परिवार से भी कोई सपोर्ट नहीं मिलता था, लेकिन तब उनके भाई प्रिंस ने सपोर्ट किया था, जो आज भी जारी है। कृति राज सिंह अपने इस सफलता का श्रेय अपने कोच कर्ण, पिता ललन सिंह, मां सुनैना देवी और भाई प्रिंस को देती हैं। कृति कहती हैं कि जबतक उनके शरीर ने उनका साथ दिया, तबतक वे पावरलिफ्टिंग गेम में भाग लेना जारी रखेंगी।

सीएम नीतीश कुमार से कृति की यह है मांग
कृति बताती हैं कि वे एक बार सीएम नीतीश कुमार से मिलना चाहती हैं। इसके लिए वो कोशिश भी कर रही हैं। वे कहती हैं कि खिलाड़ियों को जीतने के बाद मदद करने या फिर खुशी जाहिर करने बहुत सारे लोग आते हैं, लेकिन जब खिलाड़ी को खेल में जाने से पहले मदद की जरूरत होती है, तो कोई नहीं आता है। वे कहती हैं कि हमें असल में किसी की मदद की जरूरत खेल में पदक जीतने के बाद नहीं बल्कि खेल से पहले उसकी अच्छे से तैयारी करने के दौरान होती है। कृति कहती हैं कि अगर उन्हें सीएम नीतीश कुमार से मिलने का मौका मिलता है तो वे सीएम से खिलाड़ियों को आवश्यक सपोर्ट देने की मांग करेंगी, जिसमें एक खिलाड़ी को किसी भी खेल के लिए अच्छी ट्रेंनिंग, खेल के जरूरी सामान, आवश्यक आर्थिक मदद और अन्य चीजें शामिल हैं।

पटना में कृति ने ली ट्रेंनिंग
कृति राज पावरलिफ्टिंग के लिए ट्रेंनिंग को लेकर बताती हैं कि उन्होंने इसकी तैयारी पटना में ही कोच कर्ण के अंतर्गत की। बता दें कि कृति असम के गुवाहाटी से अपनी बीपीएड की पढ़ाई भी कर रही हैं। वे गुवाहाटी के लक्ष्मीबाई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल एजुकेशन में बीपीएड की प्रथम वर्ष की छात्रा हैं। कृति ने इससे पहले जुलाई 2022 में हैदराबाद में आयोजित पावरलिफ्टिंग प्रतियोगिता में 3 कांस्य पदक जीता था। उसके बाद कृति का न्यूजीलैंड में आयोजित होने वाले कॉमनवेल्थ चैंपिनयशिप के लिए चयन हुआ था। अब वहीं, कृति राज सिंह ने इस गेम में 6 गोल्ड मेडल जीतकर एक नया कृतिमान रचा है। कृति अपने इस जीत से खुश हैं और उनके साथ ही पूरे प्रदेश और देश के लोगों में भी खुशी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here