Jyoti- Alok : आलोक की शादी झूठ बोलकर हुई थी? Jyoti Case: आलोक के घरवालों ने शादी के वायरल कार्ड का किया खुलासा!

0
84
jyoti-mourya

Jyoti- Alok: ज्योति मौर्य के चाचा ने कहा, “ज्योति के पिता जुठ बोल रहे, लेकिन वह सही नहीं है।” वास्तव में, जो भी शादी(marriage) का कार्ड बनाया गया था, उसमें आलोक का कोई पद(Post) न लिखा गया था, न कोई और बात लिखी गई थी।”

 

पीसीएस अधिकारी (PCS Officer) और बरेली के एसडीएम (SDM) पद पर तैनात ज्योति मौर्य (Jyoti Maurya) मामले में हर दिन कुछ नया सामने आता है। आलोक (Alok) का रोते हुए वीडियो (Video) पिछले महीने वायरल (Viral) होने के बाद से बहुत कुछ बाहर आ चुका है। इसलिए कोई आलोक के पक्ष में है और कोई ज्योति को सही ठहरा रहा है। ज्योति और आलोक का मुद्दा (Matter) आम घरों में भी बहुत चर्चा में है। साथ ही, आलोक पर झूठ बोलकर शादी (Marriage) करने का आरोप (Alligation) लगा है। साथ ही, एक शादी का कार्ड (Marriage Card), जिसमें आलोक का पद गलत बताया गया था, सोशल मीडिया (Social Media) पर वायरल हुआ। ज्योति के ससुरालवालों, या आलोक के घरवालों ने अब उस वायरल कार्ड पर प्रतिक्रिया दी है।

आलोक मौर्य (Alok Maurya) के चाचा ने झूठ बोलकर शादी करने के आरोपों को खारिज कर दिया। आलोक मौर्य के चाचा ने कहा, “ज्योति के पिता झूठ बोल रहे हैं, लेकिन ये सही नहीं है।” आलोक का पद या कोई और शब्द शादी के कार्ड पर नहीं लिखा गया था। शादी का कार्ड उसी तरह छपवाया गया था। वह कुछ भी कह सकता है, और हम उसके प्रति जवाबदेह नहीं हैं।ज्योति और उनके पिता ने आलोक और उनके परिवार( Family) पर झूठ बोलकर विवाह करने का आरोप लगाया था। इसमें एक शादी का कार्ड भी था, जिसमें आलोक को ग्राम अधिकारी (Village Officer) के बारे में बताया गया था। शादी का कार्ड सोशल मीडिया (Social Media) पर बहुत वायरल (Viral) किया गया था।

आलोक मौर्य (Alok Maurya) के घरवालों ने मीडिया (Media) से बात करते हुए कहा कि पति-पत्नी (Husband-Wife) के बीच कोई तीसरा व्यक्ति आएगा तो झगरा बढ़ेगा ही। तीसरे के आगमन से ही आलोक-ज्योति (Alok-Jyoti) के बीच बहस बढ़ गई। मनीष दुबे (Manish Dubey) के आगमन से ही इतनी कठिनाई हुई है। पहले कभी कोई परेशानी (Problem) नहीं हुई। लड़की पढ़ने (Education) में बहुत तेज थी, और आलोक और उसके परिवार ने उसे पढ़ने में मदद की। प्रयागराज में रहना, पढ़ना, कोचिंग (Coaching) आदि सब कुछ बिना पैसा (Money) के नहीं हो सकता। यह सब मास्टर साहब ने किया था। मास्टर साहब ने रिटायर होने पर 50 से 60 लाख (Lakh) रुपये ट्रांसफर (Transfer) किए और ज्योति मौर्य (Jyoti Maurya) के नाम घर (Home) खरीदा। ज्योति अब दहेज (Dowry) की बात करती हैं। यहाँ पैसे दिए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here