Surya Grahan 2023: 20 अप्रैल 2023 साल का पहला सूर्य ग्रहण, भारत में नहीं दिखाई देगा

301
Surya-Grahan-2023

Patna: Surya Grahan 2023:- हिंदी पंचांग (hindi panchang) के अनुसार, हर महीने में कृष्ण पक्ष (New Moon) की चतुर्दशी के अगले दिन अमावस्या तिथि पड़ती है। इस प्रकार वैशाख अमावस्या 20 अप्रैल आज है। 20 अप्रैल 2023 (20 April 2023) का पहला सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) लगा है। यह एक कंकणाकृति सूर्य ग्रहण है जिसे मिश्रित सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) भी कहा जाता है। हिंदू पंचांग (hindi panchang) के अनुसार वैशाख महीना (Vaishakh month) की अमावस्या के दिन पर लगने वाला सूर्य ग्रहण आज सुबह 7 बजकर 04 मिनट से शुरू हो गया है और यह सूर्य ग्रहण दोपहर 12 बजकर 29 मिनट तक रहेगा। भारत में इस ग्रहण सूर्य ग्रहण को नहीं देखा जा सकेगा, जिसके कारण इस ग्रहण का सूतक काल मान्य नहीं होगा।

2023 का पहला सूर्य ग्रहण
2023 का पहला सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) जारी है। दुनिया के कई हिस्सों में इस सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) को देखा जा रहा है। हिंदू पंचांग (hindi panchang) के अनुसार सूर्य ग्रहण हमेशा ही अमावस्या तिथि पर पड़ता है और आज वैशाख माह (Vaishakh month) की अमावस्या तिथि है। साल में कई बार घटने वाला सूर्य ग्रहण कई रूपों में दिखाई देता है। जिसमें पूर्ण सूर्य ग्रहण जिसे खग्रास सूर्य ग्रहण कहते हैं। आंशिक सूर्य ग्रहण जिसे खंडग्रास सूर्य ग्रहण का नाम दिया जाता है।

इसके अलावा कंकणाकृति सूर्य ग्रहण भी दिखाई देता है। इसे हम मिश्रित या संकरित सूर्य ग्रहण भी कहते हैं। इस संकरित सूर्य ग्रहण को विज्ञान की भाषा में हाइब्रिड सूर्य ग्रहण के नाम से जाना जाता है। ये सूर्य ग्रहण बहुत ही दुर्लभ सूर्यग्रहण होता है क्योंकि इस ग्रहण के दौरान कुछ जगहों पर यह आंशिक सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) के रूप में दिखाई देता है, तो कुछ स्थानों पर पूर्ण सूर्य ग्रहण के रूप में, वहीं कुछ जगह पर यह कुंडलाकार सूर्य ग्रहण (Surya Grahan) की तरह दिखाई देता है। इसी कारण से इसे विज्ञान की भाषा में हाइब्रिड सूर्य ग्रहण जबकि ज्योतिष शास्त्र में मिश्रत सूर्य सूर्यग्रहण के नाम से जाना जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here