NCP Working President: Sharad Pawar ने सुप्रिया सुले और प्रफुल्ल पटेल को NCP के कार्यकारी अध्यक्ष बनाया, भतीजे अजित को बड़ा झटका

176
ncp-sharad-pawar

NCP Working President: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) से पहले राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) में बड़ा बदलाव हुआ है. पार्टी प्रमुख शरद पवार (party chief Sharad Pawar) ने बेटी सुप्रिया सुले (daughter Supriya Sule) और प्रफुल्ल पटेल (Praful Patel) को एनसीपी (NCP) का नया कार्यकारी अध्यक्ष (Executive Chairman) बनाया गया है. एनसीपी प्रमुख शरद पवार (Sharad Pawar) ने एनसीपी के 25वें स्थापना दिवस (25th foundation day of NCP) के मौके पर ये घोषणा की है. वहीं, कार्यकारी अध्यक्ष बनाए जाने पर सुप्रिया सुले (Supriya Sule) ने शुक्रिया अदा किया है. मई में पार्टी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने का ऐलान कर चुके सीनियर शरद पवार ने तब नए कार्यकारी अध्यक्ष की बात कही थी। हालांकि, पार्टी नेताओं और कार्यकर्ताओं के दबाव के बाद कुछ दिनों बाद ही उन्होंने फैसला वापस ले लिया था।

सुप्रिया सुले के पास ये जिम्मेदारी भी (Supriya Sule also has this responsibility)
शनिवार (10 जून) को पार्टी के 25वें स्थापना दिवस के मौके पर संगठन के नए पदाधिकारियों के नाम का ऐलान किया गया. सुप्रिया सुले (Supriya Sule) को कार्यकारी अध्यक्ष के साथ ही महाराष्ट्र (Maharashtra), पंजाब (Punjab), हरियाणा (Haryana), महिला (Woman), युवा (Youth) और लोकसभा (Lok Sabha) समन्वय की भी जिम्मेदारी दी गई है. प्रफुल्ल पटेल (Praful Patel) को कार्यकारी अध्यक्ष (Executive Chairman) के साथ मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh), राजस्थान (Rajasthan) और गोवा (Goa) की जिम्मेदारी दी गई है. खास बात है कि सीनियर पवार ने भतीजे अजित की मौजूदगी में यह घोषणा की। शरद पवार के इस्तीफे के ऐलान के बाद से ही बेटी सुप्रिया सुले का नाम चर्चा में था। उनके अलावा अजित पवार और एनसीपी के महाराष्ट्र प्रमुख जयंत पाटिल को भी बड़ा दावेदार माना जा रहा था।

पवार पहले ही दे चुके थे संकेत (Pawar had already indicated)
साल 2020 में एक इंटरव्यू (Interview) के दौरान ही एनसीपी प्रमुख शरद पवार (NCP chief Sharad Pawar) ने बेटी सुप्रिया सुले (daughter Supriya Sule) को बड़ी भूमिका देने के संकेत दिए थे। उन्होंने कहा था, ‘वह राष्ट्रीय राजनीति और संसद में काम करने में ज्यादा दिलचस्पी रखती हैं। उन्हें सर्वश्रेष्ठ सांसद के पुरस्कार से भी नवाजा गया था। सबकी अपनी पसंद की एक फील्ड होती है। उनकी भी है।’

अजित पवार के लिए बड़ा झटका (Big blow for Ajit Pawar)
शरद पवार (Sharad Pawar) के फैसले को पार्टी के सीनियर नेता (senior party leader) और भतीजे अजित पवार (nephew Ajit Pawar) को लगा बड़ा झटका. अजित पवार (Ajit Pawar) खुद को कभी शरद पवार (Sharad Pawar) के उत्तराधिकारी (Successor) के तौर पर देखा जाता था. हालांकि, पिछले कुछ समय से दोनों के बीच ‘सब कुछ ठीक नहीं’ होने की खबरें आ रही थीं लेकिन हर बार अजित पवार ने इससे इनकार किया था. फिलहाल, अजित पवार के पास महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी है.

विपक्षी एकता की अपील
इस दौरान शरद पवार ने विपक्षी एकता के लिए भी समर्थन मांगा है। उन्होंने कहा, ‘… सभी राजनीतिक दलों को साथ आना होगा। मुझे भरोसा है कि इस देश के लोग हमारी मदद करेंगे। 23 तारीख को हम सभी बिहार में मिलेंगे और एक कार्यक्रम तैयार करेंगे, जो देशभर में यात्रा कर लोगों के सामने पेश करेंगे।’ बिहार की राजधानी पटना में 23 जून को विपक्षी नेताओं की बड़ी बैठक होने जा रही है।

सुप्रिया सुले ने कहा शुक्रिया
एनसीपी के कार्यकारी अध्यक्ष बनने के बाद सुप्रिया सुले ने ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने लिखा, माननीय प्रफुल्ल पटेल भाई के साथ कार्यकारी अध्यक्ष की इतनी बड़ी जिम्मेदारी देने के लिए मैं एनसीपी अध्यक्ष पवार साहब और सभी वरिष्ठ नेताओं, पार्टी सहयोगियों, पार्टी कार्यकर्ताओं और एनसीपी के शुभचिंतकों का आभार व्यक्त करती हूं.

उन्होंने आगे लिखा, पार्टी के मेरे साथी सदस्यों के लिए, जिनकी वजह से हम यहां तक आए हैं, मैं एनसीपी को और मजबूत करने के लिए आप सभी के साथ लगन से काम करूंगी और हम सामूहिक रूप से अपने साथी नागरिकों की व्यापक भलाई के लिए देश की सेवा करेंगे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here