Home state Caste Census in Bihar: लालू यादव ने कहा -बिहार में जातीय गणना...

Caste Census in Bihar: लालू यादव ने कहा -बिहार में जातीय गणना होकर ही रहेगी, बोले-बहुसंख्यक पिछड़ों की गणना से क्यों डरती है BJP

lalu-yadav-Caste-Census-in-Bihar

Patna: बिहार में जाति आधारित गणना (Bihar Caste Survey) पर पटना हाईकोर्ट ने फिलहाल रोक लगा दी है। पटना हाई कोर्ट (Patna High Court) ने कहा है कि इस मामले में अगली सुनवाई 3 जुलाई (3 July) को होगी। जाति आधारित गणना (Caste Survey) को लेकर बिहार में शुरू से ही राजनीति बवाल हो रही है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (RJD supremo Lalu Prasad Yadav) ने जातीय गणना (Caste Census) पर अपनी प्रतिक्रिया देकर सियासी सरगर्मी बढ़ा दी है। इस पर बीजेपी (BJP) को आड़े हाथों लेते हुए करारा हमला बोला है.

बिहार में मचे घमासान के बाद राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव (RJD supremo Lalu Prasad Yadav) ने शुक्रवार (Friday) को ट्वीट (Tweet) कर कहा कि जातिगत गणना (Caste Survey) बहुसंख्यक जनता की मांग है और यह हो कर रहेगा। BJP बहुसंख्यक पिछड़ों हिंदुओं की जातीय गणना से इतना डरती क्यों है? वहीं, राजद सुप्रीमो (RJD supremo) ने बीजेपी (BJP) को घेरते हुए कहा कि जो जातीय गणना (Caste Census) का विरोधी है, वह समता, मानवता, समानता का विरोधी और ऊंच-नीच, गरीबी, बेरोजगारी (Unemployment), पिछड़ेपन, सामाजिक और आर्थिक भेदभाव का समर्थक है। देश की जनता जातिगत गणना पर BJP की कुटिल चाल और चालाकी को समझ चुकी है।

तेजस्वी यादव ने भी कहा-आज नहीं तो कल जाति गणना कराना ही है (Tejashwi Yadav also said – if not today then tomorrow caste census has to be done)
इससे पहले बिहार के उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव (Deputy Chief Minister Tejashwi Yadav) ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि जाति आधारित गणना (caste based enumeration) जनकल्याण के लिए है, हम गरीबी, पिछड़ेपन को मिटाना चाहते हैं। यह बात स्पष्ट है और होना तय है। आज नहीं तो कल जाति गणना कराना ही है। तेजस्‍वी यादव (Tejashwi Yadav) ने आगे कहा कि हाईकोर्ट के जजमेंट (High Court Judgment) को एक बार पढ़ा जाएगा कि क्‍या आदेश है, उसके बाद ही सरकार अगला कदम उठाएगी। इसके साथ ही बिहार के डिप्टी सीएम (Deputy Chief Minister) ने सफाई दी कि यह कास्‍ट बेस्‍ड सर्वे है यानी जाति आधारि‍त गणना है, कास्‍ट सेंसस नहीं है।

बीजेपी ने कहा-सरकार ने कोर्ट में सही ढंग से नहीं रखा अपना पक्ष (BJP said – the government did not properly present its side in the court)
बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी (BJP State President Samrat Chowdhary)-
जाति आधारित गणना (Caste Census) पर रोक लगने के बाद बीजेपी (BJP) ने नीतीश सरकार (Nitish government) को घेरा। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी (BJP State President Samrat Chowdhary) ने कहा कि जाति आधारित गणना (Caste Census) पर पटना हाई कोर्ट (Patna High Court) की रोक के लिए सिर्फ और सिर्फ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिम्मेदार (Only Chief Minister Nitish Kumar is responsible) हैं। सरकार अदालत में अपना पक्ष सही ढंग से नहीं रख पाई।

सुशील कुमार मोदी (Sushil Kumar Modi)- पूर्व उपमुख्यमंत्री एवं राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी (Former Deputy Chief Minister and Rajya Sabha member Sushil Modi) ने भी सम्राट चौधरी (Samrat Chowdhary) की बात दोहराई और कहा कि इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिम्मेदार (Only Chief Minister Nitish Kumar is responsible) हैं। नीतीश कुमार (Nitish Kumar) को पिछड़ों से कोई मतलब नहीं है, उनका पिछड़ा विरोधी चेहरा बेनकाब हो गया है. उन्होंने कहा कि जाति गणना कराने का फैसला एनडीए सरकार (NDA government) का था, जिसमें बीजेपी JDU शामिल थी। अब अदालत की अंतरिम रोक के बाद जाति गणना लंबे समय तक टल सकती है।

विजय कुमार सिन्हा (Vijay Kumar Sinha)- नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा (Leader of Opposition Vijay Sinha) ने कहा कि बीजेपी (BJP) शुरू से ही जाति आधारित गणना (Caste Census) का समर्थन किया था नीतीश कुमार (Nitish Kumar) पर जमकर हमला करते हुए कहा कि पहले इन्होंने 2022 में एनडीए (NDA) छोड़ा और फिर इसके कार्यान्वयन के लिए त्रुटिपूर्ण नीति बनाई.

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version